जैन आरती, जैन धर्म

Jain Aarti -झूम-झूम के

Jain Aarti -झूम-झूम के
Jain Aarti -झूम-झूम के मंगलमय मंगल जैन आरती संग्रह- Jain Aarti -झूम-झूम के. मैं करू आरती द्वारे, प्रभुजी की झूम-झूम के झूम-झूम के, झूम-झूम के मैं करू आरती द्वारे, प्रभुजी की झूम-झूम के आदि प्रभु कैलाशी जिन राजा आदि प्रभु कैलाशी जिन राजा पाप नशावे शिव सुख दाता, झूम-झूम के झूम-झूम के रिषभ प्रभु को बुलाउ –
जैन आरती, जैन धर्म

Aarti Choubis Bagwan ki- आरती चौबीसों भगवान की

Aarti Choubis Bagwan ki- आरती चौबीसों भगवान की
Aarti Choubis Bagwan ki- आरती चौबीसों भगवान की ऋषभ अजित संभव अभिनंदन, सुमति पद्म सुपार्श्व की जय | महाराज की श्रीजिनराज की, दीनदयाल की आरती की जय || चंद्र पुष्प शीतल श्रेयांस, वासुपूज्य महाराज की जय | महाराज की श्री जिनराज की, दीनदयाल की आरती की जय || विमल अनंत धर्म जस उज्ज्वल, शांतिनाथ महाराज की जय |महाराज की श्री
जैन आरती, जैन धर्म

Bahubali Bhagwan ki Aarti बाहुबली भगवान आरती

Bahgwan gomateshwara Bahubali swami aarti
Bahubali Bhagwan ki Aarti | बाहुबली भगवान – आरती | Bahgwan gomateshwara Bahubali swami aarti चंदा तू ला रे चंदनिया, सूरज तू ला रे किरणाँ … (२) तारा सू जड़ी रे थारी आरती रे बाबा नैना सँवारूँ …(२) थारी आरती … चंदा तू…॥ आदिनाथ का लाड़लाजी नंदा माँ का जाया …(२) राजपाट ने ठोकर मारी, छोड़ी सारी माया … (२) बन ग्या